समुद्र का पानी खारा क्यों होता है?

समुद्र का पानी खारा क्यों होता है? Why Sea Water Is Salted?
Why ocean water is salted? समुद्री जल नमकीन क्यों है? 

समुद्र का पानी खारा क्यों होता है? Why Sea Water Is Salted?

दोस्तों Hindi Calling में आपका स्वागत है. आज मैं बहुत ही साधारण लेकिन इंटरेस्टिंग टॉपिक आपके लिए लेके आया हूँ. बच्चे हों या बड़े हम सब के मन ये सवाल अक्सर आता ही है की 'समुद्र का पानी खारा क्यों होता है?' और आज हम आपको इस सवाल का जवाब देंगे. Why ocean water is salted? समुद्री जल नमकीन क्यों है? 

पूरी पृथ्वी की सतह का क्षेत्रफल 51 करोड़ किलोमीटर Squre है. जिसमे से 36 करोड़ किलोमीटर squre में समुद्र फैला हुआ है, मतलब 71% पृथ्वी की सतह पर समुद्र फैला हुआ है. और पूरी पृथ्वी पर पानी का 97% हिस्सा समुद्र में है. 



समुद्र में इतना पानी है की लोगों को पानी की कभी कोई प्रॉब्लम ही न हो. लेकिन समुद्र का पानी इतना ज्यादा खारा होता है की हम उसे पीने के लिए और बाकी कामों में इस्तेमाल नहीं कर पाते. ‘लेकिन समुद्र का पानी इतना खारा क्यों है?’ आज हम ये जानेंगे. आप ये जानते ही होंगे की नमक का निर्माण समुद्र से ही होता है. 

और आपको जानकार आश्चर्य होगा की समुद्र में 90% नमक हमारा वो खाने वाला नमक NACL ही होता है. और ये बात मैं इसलिए बोल रहा हूँ क्योंकि समुद्र में और भी कई प्रकार के नमक पाए जाते हैं.





नमक क्या होता ? नमक की रासायनिक संरचना कैसी होती है?

जब कोई (Atom) एटम (Electron) इलेक्ट्रान को ग्रहण कर के (-) नेगेटिवली (Negatively) चार्ज (Charged) हो जाता है यानी एनायन (Anion) बन जाता है, और वो किसी (+) पॉजिटिवली (Charged) Atom यानी Cation से आयनिक बांड बनाकर जो इलेक्ट्रिकली न्यूट्रल Compound बनाता है वो होता है साल्ट यानी नमक जैसे nacl.

hindi calling
Ionic Bond

nacl में सोडियम (+) पॉजिटिव आयन है और क्लोरीन (-) नेगेटिव आयन दोनों मिलकर nacl यानि साल्ट बनाते हैं और शब्दों में कहूँ तो Acid यानी अम्ल और Base यानि क्षार मिलकर आपस में नमक बनाते हैं.
hindi calling

अब इतना जानने के बाद पता लगाते हैं की समुद्र में नमक कहाँ से आता है? समुद्र में नमक का आना मुख्यतः 2 कारणों से होता है :-

नदियों और पत्थरों के कारण :-

जिसमे से पहला है पत्थरों और ज़मीन के सहारे नमक का समुद्र में मिलना. इसमें होता ये है की जब पानी बरसता है तो उस समय पानी की बूंदे co2 से मिलकर एसिडिक हो जाती हैं. और फिर जब पानी ज़मीन और पत्थरों पर गिरता है तो वहां से ये मिनिरल्स और आयन से क्रिया कर के नमक या साल्ट बनाते हुए समुद्र में मिल जाते हैं. इस वजह से समुद्री जल नमकीन हो जाता है.


वोल्कैनोस और हाइड्रो थर्मल वेन्ड्स के कारण :-

दूसरा है समुद्र के अन्दर वोल्कैनोस और हाइड्रो थर्मल वेन्ड्स से नमक का समुद्र में बनना – इसमें होता ये है की समुद्र में ही स्थित हाइड्रो थर्मल वेन्ड्स और वोल्कैनोस से निकलने वाले साल्ट पानी से क्रिया करके समुद्र में नमक की मात्रा बढ़ा देते हैं. 

इसके अलावा समुद्र में कुछ जानवरों के खोल जैसे कछुओं का खोल समुद्री सीप आदि का खोल समय के साथ समुद्र में डिज़ाल्व होके नमक बना लेते हैं. तो ये कारण है समुद्र के पानी के खारा होने का. इस वजह से समुद्र का पानी खारा होता है.




अब इतना जानने के बाद प्रश्न उठता है की इस तरह से तो नदियों का पानी भी खारा होना चाहिए यानी चट्टानों और ज़मीन के सहारे से आने वाले पानी से तो नदियों का पानी भी खारा होना चाहिए पर ऐसा नहीं होता हैं. 

नदियों का पानी तो समुद्र के मुकाबले काफी मीठा होता है. इसका कारण ये है की समुद्र में वोल्कैनोस और हाइड्रो थर्मल वेन्ड्स और नदियों से बहकर आने वाले पानी से जिस दर से नमक का निर्माण होता है उस दर से नदियों में नमक का निर्माण नहीं होता है. 

नदियाँ अपना पानी हमेशा बहाती रहती हैं इसलिए नदियों में पानी हमेशा ताज़ा बना रहता है. लेकिन समुद्र में ऐसा नहीं होता. इसलिए समुद्र का पानी खारा होता है ?



शुभकामनाओं के साथ आपका मित्र Raju Gautam .


फ्रेंड्स अगर आपको मेरा ये आर्टिकल अच्छा लगा तो कृपया कमेन्ट  के माध्यम से मुझे बताएं. और इसे अपने दोस्तों 
के साथ WhatsappFacebookTwitterऔर Google+ पर अधिक से अधिक शेयर करें ।


यदि आप अपना कोई आर्टिकल, Inspirational story, कविता या कोई जानकारी जो हिंदी में हो और HindiCalling.Com में आप हमारे साथ शेयर  करना चाहते हैं, तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें.



हमारी Email Id है:
 hindicalling@gmail.com पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ HindiCalling.Com में Publish करेंगे.



Thank You.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ